दिल्ली में एक बार फिर लॉक डाउन लगने के बाद प्रवासियों की घर लौटने के लिए बस-रेलवे स्टेशन पर उमड़ी भीड़

दिल्ली में कोरोना का विस्फोट हो चुका है हर दिन कोरोना के बढ़ते मरीजों का नया रिकॉर्ड बन रहा है और मरने वाले लोगों की संख्या भी अब बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है। दिल्ली में बेड की कमी हो रही ऑक्सिजन की कमी आ रही है सभी मेडिकल फैसिलिटी अभी दिल्ली की चरमरा गई है ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में एक सप्ताह के लिए  संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया है ये लॉक डाउन सोमवार यानि कल ही रात 10 बजे से अगले सोमवार के सुबह तक लगा दिया दिया गया है। इसमें केवल जरूरी सेवाएं कि आगा जाही है।  दिल्ली मे एक बार फिर लॉकडाउन के ऐलान के बाद कल प्रवासी मजदूरों के बीच घर लौटने की होड़ मच गई । काफी संख्या में लोग आनंद विहार समेत अन्य बस अड्डों व रेलवे स्टेशनों पर पहुंच रहे थे। प्रवासियों मजदूर अपने घरों के तरफ जाने लगे। 

उन्हे इस बात का डर हो गया कि ये लॉक डाउन एक सप्ताह से ज्यादा हो जायेगा तो उनका क्या होगा वो दिल्ली में कैसे रहेंगे क्या खाएंगे कैसे गुजारा होगा उनका और उनके परिवार का और कल एक बार फिर प्रवासियों का झुंड  आनंद बिहार के रेलवे स्टेशन पर दिखी जहा लोगों में ना कोरोना का डर दिखा ना सोशल डिस्टेंस लोगों के अंदर बस अपने घर जल्द से जल्द जाने की  होर दिखी। लॉकडाउन की जानकारी मिलने के बाद प्रवासी बस अड्डों व रेलवे स्टेशनों की ओर दौड़ पड़े। दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे पर बना फुटओवर ब्रिज लोगों की भीड़ से भरा नजर आया. लोग दीवार फांदकर बस अड्डे में दाखिल होने लगे. यहां से ज्यादातर लोग उत्तर प्रदेश व बिहार जा रहे थे।   

सीएम केजरीवाल ने कल लॉकडाउन  लगाने का फैसला सुनाते हुए ये भी कहा कि लॉकडाउन लगाने का फैसला लेना आसान नहीं था। उन्होंने प्रवासियों से अपील की है कि वे दिल्ली छोड़कर न जाएं। उनका ख्याल रखा जाएगा. लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाएं चलती रहेंगी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending