प्रियंका के बाद अखिलेश यादव भी हिरासत में, लखनऊ में दे रहे थे धरना, सपा समर्थकों ने पुलिस जीप में लगाई आग

विपक्षी नेता अखिलेश यादव लखीमपुर जाकर किसानों से, मृतकों के परिवार से मिलना चाहते हैं लेकिन उन्हें प्रशासन ने रोक लिया तो अखिलेश यादव लखनऊ में सड़क पर ही धरने पर बैठ गए थे। हंगामा बढ़ने पर पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले लिया। प्रियंका गांधी को सीतापुर में हिरासत में लिया जा चुका है।

लखीमपुर की घटना के बाद उत्तर प्रदेश में आए सियासी उबाल के बीच समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव को हिंसाग्रस्त जिले जाने से रोक दिया गया जिसके विरोध में सपा मुखिया अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए। उधर, सपा के सैकड़ों समर्थकों और पुलिस के बीच जमकर नोकझोंक और धक्कामुक्की हुई। इस बीच गौतमपल्ली थाने के पास कुछ अराजक तत्वों ने एक पुलिस वाहन को आग के हवाले कर दिया।

पार्टी महासचिव प्रो रामगोपाल यादव और सैकड़ों समर्थकों के साथ धरने पर बैठे श्री यादव ने कहा कि लखीमपुर में निर्दोष किसानो की हत्या के लिये केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र और सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य जिम्मेदार है, इसलिये उन्हे तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिये। उन्होने मृतक किसानों के परिजनों को दो करोड़ रूपये मुआवजा देने की भी मांग की। श्री यादव ने कहा कि लखीमपुर की घटना सरकार की अतिवादिता की पराकाष्ठा है।

सरकार हिटलरशाही रवैया अपना कर लोकतंत्र को कुचलना चाहती है। कोई भी अधिकारी यह बताने को तैयार नहीं है कि उन्हे लखीमपुर जाने से क्यों रोका जा रहा है। लोकतंत्र में हर नेता को आम आदमी और किसान के दुखदर्द साझा करने का अधिकार है और ऐसा करने से उन्हे रोका जा रहा है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending