पेट्रोल-डीजल के बाद अब 1 दिसंबर से टीवी देखना भी होगा महंगा, जानिए देनी होगी कितनी रकम

पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में जारी लगातार बढ़ोतरी के बाद अब जनता को मनोरंजन के लिए भी और अधिक पैसे खर्च करने पड़ेंगे। जी, हां अब ना केवल पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतें बढ़ाई गई है बल्कि टीवी देखने के चार्जेस भी बड़ा दिए गए है। दरअसल, देश के प्रमुख ब्रॉडकास्टिंग नेटवर्क्स जी, स्टार, सोनी और वॉयकॉम 18 ने कुछ चैनल्स अपने बुके से बाहर कर दिए हैं जिसके कारण टीवी देखने वाले दर्शकों को 50% तक अधिक खर्च करना पड़ सकता है।

बता दें टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) के नए टैरिफ ऑर्डर के लागू करने की वजह से यह दाम बढ़ रहे हैं। जिसके कारण अगले महीने यानी 1 दिसंबर से केबल-डीटीएच की दरों में संशोधन होने जा रहा है। जिसके बाद उपभोक्ताओं को नए-नए और मनोरंजन वाले कार्यक्रम देखने के लिए थोड़ा सोचना पड़ेगा। अभी उपभोक्ता 300 रुपये में अपने मनपसंद चैनल के कार्यक्रम देखते हैं और उनका आनंद उठाते हैं, लेकिन अब उन्हें कम से कम 500 रुपये देने पड़ेंगे। 

ज्ञात हो की केबल और डीटीएच का रेट इससे पहले 2019 में बढ़ाया गया था। इसकी वजह से उस समय 40-50 फीसदी दर्शकों की संख्या कम हो गई थी। केबल और डीटीएच के संबंध में भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण की नई गाइडलाइन से सोनी, स्टार प्लस, स्पोर्ट्स, जी और कलर्स जैसे चैनल देखने के लिए लोगों को 35-50 फीसदी ज्यादा भुगतान करना होगा। फिलहाल इन चैनलों के लिए 19 रुपये देने पड़ते हैं। अब इनकी कीमत 24 से 30 रुपये के बीच होगी। ये चैनल किसी भी पैकेज में शामिल नहीं होंगे।

कितनी देनी होगी रकम

स्टार प्लस, कलर्स, ज़ी टीवी, सोनी और कुछ रीजनल चैनल जैसे लोकप्रिय चैनलों को देखने के लिए, दर्शकों को 35 से 50 फीसदी तक ज्यादा चुकाने होंगे। नई कीमतों पर एक सरसरी निगाह डाले तो यदि कोई दर्शक स्टार और डिज्नी इंडिया के चैनल देखना जारी रखना चाहता है 49 रुपये प्रति माह की जगह अब उतने ही चैनलों के लिए 69 रुपये खर्च करने होंगे। Sony के लिए उन्हें हर महीने 39 की जगह 71 रुपये खर्च करने होंगे। ZEE के लिए 39 रुपये की जगह 49 रुपये और Viacom18 चैनलों के लिए 25 रुपये प्रति माह की जगह 39 रुपये प्रति माह खर्च होंगे।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending