न्यूजीलैंड के बाद अब इंग्लैंड ने भी रद्द किया पाकिस्तान का दौरा, पाकिस्तान ने बताया निराशाजनक फैसला

न्यूजीलैंड के बाद अब इंग्लैंड ने दिया पाकिस्तान को एक बड़ा जोरदार झटका है। दरअसल इंग्लैंड ने अक्टूबर में होने वाले अपने महिला और पुरुष टीम के पाकिस्तान दौरे को फिलहाल टाल दिया है। इसकी जानकारी खुद सोमवार को इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने दी है। वहीं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमिज राजा ने ईसीबी के पाकिस्तान की यात्रा नहीं करने के फैसले पर निराशा व्यक्त की। बता दें कि साल 2005 के बाद इंग्लैंड का ये पहला पाकिस्तान दौरा होता। इससे पहले न्यूजीलैंड की पुरुष टीम ने सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए शुक्रवार को सफेद गेंद की सीरीज को रद्द करने का फैसला किया था।

दरअसल ईसीबी ने बयान में कहा, “ईसीबी की 2022 में पुरुषों के भविष्य के दौरे कार्यक्रम के हिस्से के रूप में पाकिस्तान का दौरा करने की एक लंबी प्रतिबद्धता है। इस साल की शुरुआत में, हम अक्टूबर में पाकिस्तान में दो अतिरिक्त टी20 विश्व कप अभ्यास खेल खेलने के लिए सहमत हुए, जिसमें डबल के साथ एक छोटा महिला दौरा शामिल था। ईसीबी बोर्ड ने इस सप्ताह के अंत में पाकिस्तान में इन अतिरिक्त इंग्लैंड महिला और पुरुषों के खेलों पर चर्चा करने के लिए बुलाया और हम पुष्टि कर सकते हैं कि बोर्ड ने अनिच्छा से अक्टूबर के दौरे को रद्द करने का फैसला किया है।”

इंग्लैंड के पाकिस्तान का दौरा रद्द करने के बाद फूटा रमीज राजा का गुस्सा

ईसीबी के इस फैसले के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड(पीसीबी) के नवनिर्वाचित अध्यक्ष रमीज राजा का गुस्सा फूट पड़ा है । राजा ने ट्वीट करके इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के इस फैसले पर निराशा जताई और एक अन्य बयान में इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर तंज कसा। राजा ने ट्वीट करके कहा, इंग्लैंड के अपने वादे से मुकरने और क्रिकेट जगत के एक सदस्य को असफल करने के फैसले से निराशा हुई है। वो भी तब जब उनके सहयोग की उन्हें सबसे ज्यादा जरूरत थी। इंशाअल्लाह हम अपना वजूद बचाने में सफल होंगे।

यह पाकिस्तानी टीम के लिए नींद से जागने और दुनिया की सबसे बेहतरीन टीम बनने की दिशा में आगे बढ़ने का वक्त है। जिससे कि दुनियाभर की टीमें भविष्य में उनके साथ मैच खेलने के लिए बगैर किसी बहाने के कतार लगाकर खड़ी हों। पीसीबी अध्यक्ष ने इस बारे में एक और बयान देते हुए इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, जब पाकिस्तान सुपर लीग में खेलने की बात आती है तब इंग्लैंड के खिलाड़ी खुशी-खुशी पाकिस्तान आते हैं लेकिन जब एक दल के रूप में ऐसा करने के बात आती है तो उन्हें यहां डर सताने लगता है। 

राजा ने कहा इंग्लैंड का फैसला निराशाजनक है और उनसे ऐसे ही निर्णय की आशा थी क्योंकि दुर्भाग्यवश पश्चिमी देश एक दूसरे का साथ देने खड़े हो जाते हैं। सुरक्षा कारणों का हवाला देकर आप कोई भी निर्णय ले सकते हैं। उन्होंने आगे कहा, गुस्सा इस बात का है कि न्यूजीलैंड की टीम पहले यहां से निकलती है और ये बात साझा किए बगैर कि उन्हें क्या खतरा था। हमारी सुरक्षा एजेंसियां जो दुनिया में सबसे बेहतरीन हैं अगर आप उनके साथ भी अपनी सूचनाएं साझा ना करें और सीधा जहाज पकड़ें और निकल जाएं तो इससे हमें धक्का लगा।

उन्होंने आगे कहा, अगर हमारी क्रिकेट इकोनॉमी बड़ी होती तो वो कभी दौरा करने से इनकार नहीं करते। पाकिस्तान दुनिया की सबसे बेहतरीन टीम होती तो वो हमारे खिलाफ खेलने से कभी इनकार नहीं करते। हमारे लिए यही सबक है कि हमें अपनी क्रिकेट की इकोनॉमी को और मजूबत करना है। ताकि इनका इन्ट्रेस्ट बना रहे। क्योंकि अगर खिलाड़ियों को ज्यादा पैसे मिलेंगे तो हमारी ज्यादा इज्जत होगी। इसी तरह क्रिकेट से हमारी इज्जत होगी। 

राजा ने आगे कहा, हमारी टीम और फैन्स इन दोनों देशों के खिलाफ अपना गुस्सा एक तरीके के साथ निकालें। हम वर्ल्डकप में जाएं तो पहले हमारे निशाने पर हमारा एक पड़ोसी मुल्क(भारत) होता था लेकिन अब भारत के साथ दो और टीमों का नाम जोड़ लें। उन्हें हम ये बताएं कि अब हम हारने वाले नहीं हैं क्योंकि आपने हमारे साथ अच्छा नहीं किया। हम इसका बदला हम मैदान-ए-जंग में लेंगे। 

बता दें इंग्लैंड की टीम 16 साल बाद पाकिस्तान दौरे पर आने वाली थी और उसे यहां वर्ल्ड कप से पहले दो टी20 मुकाबले रावलपिंडी में 13 और 14 अक्टूबर को खेलने थे। वहीं इंग्लैंड की महिला टीम को भी रावलपिंडी में ही 17, 19 और 21 अक्टूबर को तीन वनडे पाकिस्तान की महिला टीम के साथ खेलने थे। इंग्लैंड की महिला टीम का ये पहला पाकिस्तान दौरा होता। इससे पहले न्यूजीलैंड की पुरुष टीम ने सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए शुक्रवार को सफेद गेंद की सीरीज को रद्द करने का फैसला किया था।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending