हिमाचल के बाद अब पंजाब में भी लगा नो एंट्री का बोर्ड, केवल वैक्सीन लेने वाले व्यक्ति की होगी एंट्री, आज से नियम लागू

शनिवार दोपहर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कोरोना के खतरे को देखते हुए ऐलान किया है कि अब पंजाब में उन्हीं लोगों को एंट्री मिलेगी जिनके पास निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट हो या फिर उन्होंने कोरोना के खिलाफ लड़ने वाली वैक्सीन की दोनों डोज ले ली हो। पंजाब सरकार ने अपने आदेश में प्रशासन से कहा है कि इस आदेश का कड़ाई से पालन कराया जाए। खासकर जो लोग हिमाचल प्रदेश और जम्मू से आ रहे हैं उनपर नजर रखी जाए, क्योंकि इन दोनों ही राज्यों में कोरोना वायरस के मामले बढ़े हैं। पंजाब सरकार का यह आदेश सोमवार से लागू हो जाएगा। 
आदेश के अनुसार कहा गया है कि राज्य के स्कूल और कॉलेजों में सिर्फ वैसे ही शिक्षक या अन्य स्टाफ आ सकते हैं जिन्होंने कोविड-19 वैक्सीन की दोनों डोज ली हो, या फिर वो जो लोग हाल ही में कोविड-19 से ठीक हुए हैं वैसे लोग ही स्कूल या कॉलेज में उपस्थित रह सकते हैं। यहां तक कि यहां अभी छात्रों के लिए ऑनलाइन क्लास की सुविधा को भी जारी रखने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही यह भी कहा है कि वो चाहते हैं कि शैक्षणिक गतिविधियों से जुड़े सभी कर्मचारियों को प्राथमिकता के तौर पर कैंप लगाकर वैक्सीन दिया जाए। 
बता दें कि शुक्रवार को पंजाब में कोरोना के कुल 88 मामले सामने आये और इस दिन किसी के भी मरने की खबर नहीं है। राज्य में कोरोना महामारी से ग्रसित कुल मरीजों की संख्या 6 लाख के पास पहुंच गई है। पंजाब में स्कूलों के दोबारा खोले जाने पर यहां कोविड टेस्टिंग बढ़ा दी गई है। सरकार ने अब स्कूल में हर रोज कम से कम 10,000 सैम्प्लस के आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने का भी फैसला किया है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending