हिंदू धर्म का त्याग कर इस्लाम अपनाने वाले आदित्य उर्फ अब्दुल ने फिर से हिंदू धर्म में वापसी की जताई इच्छा

उत्तर प्रदेश में जिहाद और धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह ने अपने जड़े इस कदर मजबूत कर ली है की ना अब इन्हें सरकार का डर है ना कानून का कोई खौफ। योगी सरकार द्वारा इतने कड़े कानून बनाने के बावजूद भी अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहें है। इसी कड़ी में धर्मांतरण से जुड़ा यूपी के कानपुर से एक और मामला सामने आया है।

जहां मुस्लिम चरमपंथियो ने अपनी नफरत का शिकार मूक बाधिर हिंदू युवक आदित्य गुप्ता को बनाया था और गलत तथ्यों के आधार पर उसके मन में हिन्दुओं के प्रति इतना जहर घोल दिया की आदित्य ने तकरीबन एक सप्ताह पहले इस्लाम अपना लिया था लेकिन अब कानपुर के काकादेव हितकारी नगर मोहल्ले के मूक-बधिर युवक आदित्य गुप्ता ने अपना मन बदल लिया है और हिंदू धर्म में वापसी की इच्छा जताई है।

आदित्य से अब्दुल बने युवक ने बुधवार दोपहर अपने सोशल मीडिया एकाउंट के जरिए हिंदू धर्म में वापसी की इच्छा जताई। यह परिवर्तन उसकी काउंसिलिंग के बाद देखने को मिला है, जिसका इंतजाम एक सुरक्षा एजेंसी की तरफ से किया गया। काउंसिलिंग में ऐसे एक्सपर्ट को शामिल किया गया, जो दोनों धर्मों का जानकार था। एक्सपर्ट ने मुस्लिम चरमपंथियों द्वारा ब्रेनवाश करते समय आदित्य के मन में भरी गलत धाराओं का सच बताकार उसके मन को परिवर्तित कर दिया।

आदित्य के परिजनों के अनुसार, बुधवार की सुबह एक सुरक्षा एजेंसी के कुछ अधिकारी उनके घर आए। उनके साथ काउंसलर भी थे। उन्होंने आदित्य से करीब 2 घंटे तक पूछताछ की। विशेषज्ञ ने उससे मुस्लिम धर्म पर ढेरों बातें की। इस दौरान पता चला कि धर्मांतरण के लिए तैयार करने के लिए कई गलत तथ्यों को आदित्य के दिमाग में भरा गया था। विशेषज्ञ ने उन बिंदुओं को पकड़ा और एक एक करके उसका एक्सप्लेनेशन कर धर्मांतरण के लिए बोले गए झूठ को बताया।

यही नहीं, सुरक्षा एजेंसियों ने उसे यह भी चेतावनी दी कि वह और उसके साथ सभी पुलिस और अन्य एजेंसियों की निगाह में हैं, जरा सी गड़बड़ी पर कार्रवाई भी हो सकती है। परिजनों के अनुसार, टीम के जाने के बाद आदित्य के व्यवहार में तेजी से बदलाव दिखा। उसने लंबे-लंबे हो चुके बालों को कटवाया। लंबे समय से वह कोल्ड ड्रिंक नहीं पी रहा था, क्योंकि उसे इसका प्रयोग हराम बताया गया था, मगर उसने खुद कोल्ड ड्रिंक मंगाकर पीया।

यही नहीं, दोपहर बाद उसने मां के वाट्सएप स्टेटस पर वापसी की घोषणा की। आदित्य ने लिखा- प्लीज डू नॉट बैड आदित्य, आदित्य सेल्फ लीव मुस्लिम, आदित्य लाइक हिंदू लाइफ ओनली, आदित्य नीड जॉब वर्क ओनली। स्टॉप फ्रेंड्स मुस्लिम। इस स्टेटस को पढ़कर उसके घर में खुशी की लहर दौड़ गई। धर्मांतरण मामले में एटीएस की जांच में सामने आया है कि कानपुर में भी गिरोह सक्रिय था। ऐसे में एटीएस की लखनऊ की टीम ने डेरा डाल दिया है। हालांकि, जब से यह मामला सामने आया है गिरोह के सदस्य अंडरग्राउंड हो गए हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending