विज्ञान-उद्योग सहयोग को बढ़ावा देने के लिए एक नया मंच

नई दिल्ली, 16 अगस्त (इंडिया साइंस वायर): भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार (पीएसए) कार्यालय ने एक नया मंच शुरू करने की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य उद्योग और वैज्ञानिक अनुसंधान तथा विकास पारिस्थितिकी तंत्र के बीच सहयोग को बढ़ावा देना है, जिससे संयुक्त राष्ट्र सतत् विकास लक्ष्यों के अनुरूप भारत के स्थिरता लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिल सके। यह घोषणा स्वतंत्रता के 75 वर्ष (आजादी का अमृत महोत्सव) के अवसर पर की गई है।

पीएसए कार्यालय के नेतृत्व में, ‘मंथन’ नामक इस मंच से भारत में विज्ञान और प्रौद्योगिकी-आधारित सामाजिक प्रभाव नवाचार और समाधानों के परिदृश्य को संभावित रूप से बदलने की उम्मीद की जा रही है। यह मंच; सूचना विनिमय सत्रों, प्रदर्शनियों और कार्यक्रमों के जरिये भविष्य के विज्ञान, नवाचार एवं प्रौद्योगिकी आधारित विकास की रूपरेखा विकसित करने के लिए ज्ञान हस्तांतरण और संवाद की सुविधा प्रदान करेगा।

एनएसईआईटी (NSEIT) द्वारा संचालित इस मंच का उद्देश्य हितधारकों के बीच संपर्क बढ़ाना, अनुसंधान एवं नवाचार की सुविधा प्रदान करना, और विभिन्न उभरती प्रौद्योगिकियों तथा वैज्ञानिक हस्तक्षेपों से जुड़ी चुनौतियों को साझा करना है, जिनमें सामाजिक प्रभाव शामिल है। पीएसए कार्यालय द्वारा मंगलवार को जारी किए वक्तव्य में यह जानकारी प्रदान की गई है।

भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार, प्रोफेसर अजय कुमार सूद ने कहा कि “भारत सरकार वास्तविक दुनिया के अनुप्रयोगों के लिए देश को विज्ञान और तकनीकी प्रगति में सबसे आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है। मंथन, अनुसंधान एवं विकास में उद्योग भागीदारी के निर्माण और पोषण के प्रयासों को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह पहल, संयुक्त राष्ट्र के एसडीजी लक्ष्यों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का भी प्रमाण है।”

पीएसए कार्यालय के वैज्ञानिक सचिव डॉ परविंदर मैनी ने कहा कि यह प्लेटफॉर्म हमारे सतत् लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अभिनव विचारों, नवोन्मेषी मस्तिष्कों और सार्वजनिक-निजी-अकादमिक सहयोग के माध्यम से देश में प्रभावी बदलाव के लिए आवश्यक आधार प्रदान करेगा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनएसई) के एमडी और सीईओ आशीष कुमार चौहान ने कहा कि ‘मंथन’ में एक वैश्विक प्लेटफॉर्म बनने के सभी आयाम शामिल हैं। उन्होंने, डिजिटल इंडिया और ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा रेखांकित दृष्टिकोण को बधाई दी है, और ‘मंथन’ नामक अभिनव मंच तैयार करने के लिए पीएसए कार्यालय को सराहा है। अनंतरामन श्रीनिवासन, एमडी और सीईओ, एनएसईआईटी ने कहा कि यह प्लेटफॉर्म नई अवधारणाओं, विज्ञान आधारित विचारों और नई प्रौद्योगिकी के परिणामों को देशभर में तेजी से अपनाने में मदद करेगा। उन्होंने कहा, “विश्वसनीय ज्ञान और प्रौद्योगिकी भागीदार के रूप में हम पीएसए कार्यालय से जुड़कर उत्साहित हैं, और उन्हें इस प्रतिष्ठित पहल के लिए बधाई देते हैं।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending