90 साल की महिला दो अलग-अलग कोरोना वैरिएंट अल्फा और बीटा से संक्रमित

बेल्जियम में 90 साल की एक बुजुर्ग महिला कोरोना के दो अलग-अलग वैरिएंट अल्फा और बीटा से संक्रमित पाई गई है। महिला के संक्रमित होने की पुष्टि 3 मार्च को ओएलवी हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने की। बता दें की अब महिला की मौत हो चुकी है। महिला को वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लगी थी और वो रिटायरमेंट होम में रह रही थी। 

ओएलवी हॉस्पिटल के मॉलिक्युलर बायोलॉजिस्ट एनी वेंकिरबर्गेन का कहना है, महिला में दो अलग-अलग वैरिएंट्स का संक्रमण कैसे हुआ यह पता नहीं चल पाया है। इससे पहले एक इंसान को एक ही समय में अलग-अलग वायरस संक्रमित कर चुके हैं, लेकिन कोरोना के वैरिएंट से जुड़ा संभवत: यह दुनिया का पहला ऐसा मामला है।

एक्सपर्ट कहते हैं, “एक ही वायरस के दो वैरिएंट्स से संक्रमित होने मामला दुर्लभ होता है। यह डबल इंफेक्शन है। एक ही समय में अलग-अलग लोगों से संक्रमण हो सकता है। जब एक वैरिएंट इंसान को संक्रमित करता है तो यह पूरे शरीर में अपनी अपनी संख्या बढ़ाना शुरू करता है और कोशिकाओं को प्रभावित करता है। इस दौरान कुछ कोशिकाएं वायरस के संक्रमण से बची रहती हैं।

इन्हीं कोशिकाओं को दूसरा वैरिएंट्स संक्रमित कर सकता है। “वारविक यूनिवर्सिटी के वायरस एक्सपर्ट प्रो. लॉरेंस यंग का कहना है, दो वैरिएंट का एक इंसान को संक्रमित करना आश्चर्यचकित करने वाला मामला नहीं है, हालांकि ये दुर्लभ है। ऐसे मामलों में वैक्सीन कितनी असरदार है, इस पर और रिसर्च किए जाने की जरूरत है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending