काबुल धमाकों में 13 अमेरिकी सैनिकों की मौत, 70 से ज्यादा घायल, अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- कभी माफ नहीं करेंगे, एक एक से बदला लेंगे

अफगानिस्तान में गुरुवार को काबुल हवाई अड्डे के पास हुए सीरियल बम धमाकों में अमेरिका के 13 जवानों की मौत हो गई है। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, अमेरिकी सेना के 60 से अधिक जवान घायल हुए हैं और इनकी संख्या बढ़ सकती है। बता दें काबुल एयरपोर्ट पर हुए दिल दहला देने वाले धमाकों में 12 अमेरिकी नौसैनिकों और एक नौसेना का चिकित्साकर्मी शामिल था। 
हालांकि, इन बम धमाकों में अब तक कुल 72 लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीं, रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा कि हवाईअड्डे के पास दो आत्मघाती हमलावरों और बंदूकधारियों ने भीड़ को निशाना बनाकर हमला किया, जिसमें कम से कम 13 रूसी लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों लोग घायल हुए हैं। 
काबुल हवाई अड्डे के पास हुए बम धमाकों के बाद अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने ऐलान किया है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को निकालने का काम जारी रहेगा। इसके साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति ने गुरुवार को आदेश दिया कि 30 अगस्त तक यूएस का झंडा व्हाइट हाउस में और सभी सार्वजनिक भवनों और मैदानों में आधा झुकाकर रखा जाएगा। काबुल हमले के पीड़ितों को सम्मान देने के लिए केंद्र सरकार की ओर से ये फैसला लिया गया है।
हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा, हम माफ नहीं करेंगे। हम नहीं भूलेंगे। हम चुन-चुनकर तुम्हारा शिकार करेंगे और मारेंगे। आपको इसका अंजाम भुगतना ही होगा। उन्होंने आगे कहा कि हम अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को बचाएंगे। हम अपने अफगान सहयोगियों को बाहर निकालेंगे और हमारा मिशन जारी रहेगा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending