दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के कारण लिए गए 10 बड़े फैसले, जानें पूरी खबर

नई दिल्ली,17 नवंबर 2021: दिल्ली- एनसीआर में एक बार फिर प्रदूषण ढ़ा रहा है अपना कहर, सरकार की ओर से लगाए जा रहे हैं कई प्रतिबन्ध। बिगड़ते हालातों को देख कमीशन फॉर एयर क्‍वालिटी मॉनिटरिंग (CAQM) ने जारी किये आदेश। इसके तहत दिल्ली-एनसीआर के सभी स्कूल, कॉलेज व शिक्षण संस्थान अगले आदेश तक बंद रहेंगे। और साथ ही साथ दफ्तर, ट्रकों की एंट्री और कंस्ट्रक्शन को लेकर भी कई फैसले लिए गए हैं। 

थर्मल पावर प्लांट से जुड़े आदेश

बता दें की दिल्ली के 300 किमी के दायरे में मौजूद 11 में से 6 थर्मल पावर प्लांट को 30 नवंबर तक बंद रखने का आदेश दिया गया है। और केवल 5 पावर प्लांट-  महात्मा गांधी TPS, NTPC, झज्जर; CLP झज्जर; HPGCL; नाभा पावर लिमिटेड TPS, पानीपत TPS, राजपुरा और तलवंडी साबो TPS, मनसा में ही काम जारी रहेंगे। और राजधानी से 300 किलोमीटर के बाहर मौजूद पावर प्लांट की सहायता से अभी दिल्ली की ज़रूरतों को पूरा किया जाएगा।

स्कूल और कॉलेज से जुड़े आदेश

बता दें की दिल्ली-एनसीआर में मौजूद सभी सरकारी व निजी स्कूल, और साथ ही साथ कॉलेज व शिक्षण संस्थान को अगले आदेश आने तक के लिए बंद कर दिया गया है। और इस समय में ऑनलाइन क्लासेज को प्राथमिकता देने पर ज़ोर दिया गया है। 

दफ्तरों से जुड़े आदेश

आपको बता दें की दिल्ली-एनसीआर में स्थित सभी सरकारी और निजी दफ्तरों में 50 फीसदी कर्मचारियों को ही आने की अनुमति दी गई है और बाकी 50 फीसदी कर्मचारियों को 21 नवंबर तक वर्क फ्रॉम होम करने का आदेश दिया गया है। 

कंस्ट्रक्शन से जुड़े आदेश

कंस्ट्रक्शन से  जुड़े सभी कार्यों को  21 नवंबर तक के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। हालांकि, मेट्रो, रेलवे,  एयरपोर्ट व इंटर स्टेट बस टर्मिनल, और राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा से जुड़े कंस्ट्रक्शन के कार्यों को करने की अनुमति दी गई है। बता दें की अगर कोई व्यक्ति या कोई संस्था सड़क के किनारे कंस्ट्रक्शन से सम्बंधित मलबा फेंकने  वाले पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा। 

इंडस्ट्रीज से जुड़े आदेश 

इसके अनुसार एनसीआर में गैस क्षमता वाली सभी इंडस्ट्रीज खुली रहेगी। और जिस इंडस्ट्री में भी अनएप्रूव्ड फ्यूल का इस्तेमाल होता है उसे खोलने की इजाजत नहीं है। 

ट्रकों की एंट्री से जुड़े आदेश

प्रदुषण में गाड़ियों का भी बड़ा योगदान है और इसे रोकने के लिए दिल्ली में 21 नवंबर तक  ट्रकों की एंट्री पर रोक है। और केवल जरूरी सामान ढोने वाले ट्रकों को ही अनुमति दी गई है। 

गाड़ियों से जुड़े आदेश

बता दें की दिल्ली- एनसीआर में जल्द हीं सीएनजी बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी। 

डीजल जनरेटरों से जुड़े आदेश

कमीशन द्वारा डीजल जनरेटरों के इस्तेमाल पर भी प्रतिबन्ध लगाने का आदेश दिया गया गया है।  और इसका इस्तेमाल केवल इमरजेंसी होने पर ही करने को कहा गया है। 

स्मॉग गन से जुड़े आदेश

कमीशन ने स्मॉग गन और पानी के छिड़काव को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। और संवेदनशील इलाकों में इस मशीन का इस्तेमाल दिन में लगभग तीन बार करने को कहा गया है। 

सरकार के लिए निर्देश

बता दें की कमीशन द्वारा जारी किये गए निर्देश के अनुसार राज्यों के चीफ सेक्रेटरी सभी  आदेशों की प्रतिदिन निगरानी करेंगे। और आयोग के सामने  22 नवंबर को कम्प्लायंस रिपोर्ट पेश करेंगे। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending