हरियाणा : अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ वोट करने वाले विधायकों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, किसान संगठनों ने किया बड़ा ऐलान

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. हरियाणा में भी किसान संगठन लगातार नए कृषि कानून का विरोध कर रहे है. भले ही हरियाणा विधानसभा में विपक्ष द्वार लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने परास्त कर दिया हो पर किसान संगठनों ने भी इस बीच बड़ा ऐलान कर दिया है.

दरअसल, हरियाणा संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक के बाद मोर्चा सदस्य बूटा सिंह बुर्जगिल, कविता करुंगुटी, डा. आशीष मित्तल, वीरेंद्र सिंह हुड्डा आदि सदस्यों  ने कहा किसान आंदोलन जारी है और सरकार इस कतई ने सोचे कि आंदोलन समाप्त हो गया है. साथ ही किसानों संगठनों ने अब हरियाणा सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ वोट करने वाले विधायकों का बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है.

किसान नेताओं का कहना है कि विधायकों ने किसानों की बात की बात और फरियाद को अनसुना किया और वे अब इसका अंजाम भुगतेंगे. किसान नेताओं ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ वोट करने वाले विधायकों का बहिष्कार किया जाएगा. किसान नेताओं ने जोर देकर कहा कि अब तय हो गया है कि किसानों के साथ कौन खड़ा है.

साथ ही किसान संगठनों  ने कहा कि पहले गांव में इन विधायकों का विरोध हो रहा था पर अब हरगिज इन विधायकों को गांव में आने नही दिया जाएगा. आपको बता दे कि दिल्ली के तमाम बॉर्डरों पर पिछले 100 दिनों से अधिक से किसानों का आंदोलन कृषि कानून के विरोध में जारी है. केंद्र की मोदी सरकार और किसानों के बीच कई बार कृषि कानून पर बातचीत हो चुकी है पर अभी तक कृषि कानून पर कोई हल नहीं निकल पाया है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending