हरिद्वार महाकुंभ : कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लाने की बाध्यता हटी, उत्ताराखंड सरकार ने लिया फैसला

महाकुंभ का आयोजन इस बार धार्मिक नगरी हरिद्वार में हो रहा है. महाशिवरात्री के अवसर पहला शाही स्नान संपन्न हुआ जिसमें साधु- संतो सहित श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई. इसी बीच उत्तराखंड के नए सीएम तीरथ सिंह रावत ने कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है. दरअसल, अब हरिद्वार कुंभ मेले में आने वाले लोगों को कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

आपको बता दे कि उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत ने एक प्रसिद्ध अखबार को दिए एक इंटरव्यू के दौरान इस बात को कहा. उन्होंने कहा कि कुंभ मेले में कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लाने की बाध्यता को हटाने का फैसला लिया गया है क्योकि  कुंभ के लिए हरिद्वार आने वाले लोगों के मन में इससे जुड़े भ्रम थे, इसलिए जरूरी था कि इन सभी संशयों को दूर कर दिया जाए.

उन्होंने आगे कहा कि कुंभ मेले का आयोजन 12 वर्षो के बाद आता है और हम नहीं चाहते कि लोग ये अवसर गवां दे. उत्तराखंड के नए सीएम तीरथ सिंह रावत के मुताबिक कुंभ मेले में प्रत्येक दिन आने वाले लोगों का आरटीपीसार टेस्ट संभव नहीं था. गौरतलब है कि इससे पहले उत्तारखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोरोना महामारी के मद्देनजर एसओपी जारी कर हरिद्वार कुंभ में आने वाले प्रत्येक वयक्ति के लिए कोरोना की नेगिटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य किया था.

आपको बता दे कि कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार कुंभ मेला केवल एक महीना का ही होगा. इसकी शुरआत एक अप्रेल से होने जा रही है और कुंभ मेले का आयोजन 30 अप्रेल तक होगा. 11 मार्च को महाशिवरात्री के अवसर पर पहला शाही स्नान संपन्न हो चुका है और अब 12 अप्रेल को दूसरा शाही स्नान आयोजित किया जाएगा. हरिद्वार महाकुंभ को लेकर लोग देशभर में उत्साहित है और देश के विभिन्न जगहों से लोग हरिद्वार कुंभ में शामिल होने के लिए हरिद्वार पुहंच रहे है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending