रमजान के महीने की शुरुआत कल से हो चुकी ,आइए जानते है किस राज्य में कैसी तैयारी हो रही है रमजान की

कोरोना इतनी तेजी से फैल रहा है कि अब 24 घंटे में 2 लाख से भी अधिक मामले सामने आये ऐसे में रमजान के महीना की भी शुरूआत हो चुका है आइए जानते है कि देश के हर राज्य में रमजान की तैयारी कैसे हो रही है-

रीतू कुमारी/नई दिल्ली -15 April
 पूरे देश में कोरोना के मामलें बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच रमज़ान का महीना शुरू हो चुका है और पूरे देश में रमजान की तराबीह के लिए मस्जिदों में तैयारियां की जा चुकी है।रमजान इस्लामी कैलेंडर का नौवां और पवित्र महीना माना जाता है । दुनिया भर के मुसलमान रोजे के इस महीने को बलिदान का महीना मानते हैं और इसकी शुरूआत चांद देख कर करते है।
रमजान के पवित्र महीने में मुसलमान लोग रोजा रखते हैं. इस दौरान सूरज निकलने से लेकर सूर्यास्त तक कुछ भी खाया-पिया नहीं जाता है. रमजान रहमतों और बरकतों का महीना है।रमजान वह महीना है जिसमें 1,400 साल से पहले पैगंबर मुहम्मद के सामने इस्लाम की पवित्र पुस्तक कुरानकी पहली आयत का अवतरण हुआ था. इस पूरे महीने मुसलमान फजफज्र की नमाज के साथ रोजे की शुरूआत करते हैं और सूर्यास्त की नमाज के साथ रोजा खोलते हैं।
आइए जानते है किस राज्य में कैसी तैयारी है रमजान की
दिल्ली में रमजान को लेकर क्या तैयारी है
दिल्ली में रमज़ान में नई पाबंदिया जारी की गई है। रमजान के महीने में सभी धार्मिक स्थलों पर भीड़ जुटाने पर पाबंदी लगाई गई और किसी भी समारोह का आयोजन या भीड़ जुटाने पर भी पाबंदी है।
उत्तर प्रदेश में रमजान को लेकर नियम
उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने मस्जिदों में एक बार में सिर्फ 5 लोगों को ही प्रवेश देने का फैसला किया है। इसके अलावा प्रसाद बांटने और पवित्र जल के छिड़काव पर भी प्रतिबंध रहेगा।

महाराष्ट्र में रमज़ान को लेकर बनाए गए सख्त नियम:

कोरोना संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। यहां मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों समेत सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। हालांकि, वहां के महंत, पुजारी, मौलाना, ग्रंथी आदि सामान्य पूजा-पाठ कर सकेंगे।
बिहार के मस्जिदें में क्या तैयारी है
बिहार में 30 अप्रैल तक मस्जिदों समेत सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। यहां किसी तरह के धार्मिक समारोह की अनुमति नहीं है।
राजस्थान में रमजान में पाबंदियां
कोरोना के मामले तेजी से फैल रहे हैं। राजस्थान में अगर किसी को धार्मिक समारोह का हिस्सा बनना है तो उसे आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट देना होगा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending