मोदी सरकार का बड़ा फैसला, कहा – वापस लिए जाएंगे तीनों कृषि कानून, किसानों मे दौड़ी खुशी की लहर

पीएम मोदी ने शुक्रवार सुबह देश को संबोधित किया और इस दौरान पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि बजट को पांच गुना बढ़ाने का भी बड़ा फैसला लिया है। राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा की, इस महीने के अंत में तीन कृषि कानूनों को समाप्त करने की संवैधानिक प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी। इसके साथ ही पीएम मोदी ने दिल्ली और हरियाणा के बॉर्डर पर बैठे किसानों से घर वापस जाने की अपील भी की।


अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “मैं आज आप सभी देशवासियों से यहां माफी मांगने आया हूं …अवश्य हमारी तपस्या और प्यार में कोई कमी रह गई होगी..जो आज देश का इतना बड़ा वर्ग हमसे नाराज हो गया है..आज गुरु नानक देव का पवित्र पर्व है और यह समय किसी को दोष देने का नही है…इसलिए आज मैं यहां आप सभी देशवासियों के सामने हमारी सरकार द्वारा बनाए गए तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान करता हूं।”
पीएम मोदी ने गुरु पर्व और कार्तिक पूर्णिमा की शुभकामनाएं देते हुए कहा की, “ये भी बहुत सुखद है की डेढ़ साल के अंतराल के बाद करतारपुर साहिब कोरियार्डर अब एक बार फिर से खुल गया है…।”

उन्होंने आगे कहा मैने जिंदगी में काफी सारी चुनौतियां देखी है। इसलिए हमारी सरकार की पहली प्राथमिकता हमारे किसान भाई है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की, “आज हमारे देश मे लगभग 80 फीसदी किसान भाई ऐसे है जिनके पास कुल 2 हेक्टेयर की जमीन है और वर्तमान समय में हमारे देश में ऐसे किसानों की संख्या 2 करोड़ से भी ज्यादा अधिक है।”


पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आगे कहा, किसानों को जमीन और अधिक छोटी होते जा रही है। पीएम मोदी ने बताया को उनकी सरकार ने जमीन , बीमा, बाजार और योजना पर बहुत अधिक काम किया है। उन्होंने कहा की हमारी सरकार ने अच्छी क्वालिटी के बीज के साथ ही यूरिया, स्वाइल हेल्थ कार्ड और माइक्रो इरिगेशन से भी किसानों को जोड़ा है। पीएम मोदी ने कहा हमने आप किसान भाइयों को 22 करोड़ से भी अधिक हेल्थ कार्ड दिया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending