महाकुंभ 2021 : इस प्रमुख दिन से शुरू होगा शैव सम्प्रदाय का हरिद्वार में आगमन

कुंभ मेले का आयोजन इस बार हरिद्वार में हो रहा है जिसको लेकर तैयारियां जोरों पर है. 27 फरवरी से कुंभ मेला शुरू हो रहा है और इसको लेकर देश और दुनियाभर में उत्साह देखने को मिल रहा है. बात अगर कुंभ मेले की करे तो हरिद्वार में आयोजित होने जा रहे कुंभ मेले में महाशिवरात्रि से शैव मत के नागा संन्यासियों का आगमन होगा.

वहीं 25 मार्च से वैष्णव मत से जुड़े खालसों का आगमन होगा. आपको बता दे कि 13 अखाड़ों के कुल चार शाही स्नान होंगे और प्रत्येक स्नान पर छह समय प्रदान होंगे.  गौरतलब है कि 11 मार्च शिवरात्रि के पहले शाही स्नान पर संन्यासियों के सात और 27 अप्रैल वैशाख पूर्णिमा पर बैरागी अणियों के तीन अखाड़े ही स्नान करते हैं.  इसके अलावा 12 अप्रैल सोमवती अमावस्या के दूसरे और 14 अप्रैल मेष संक्रांति के मुख्य शाही स्नान पर सभी 13 अखाड़ों के स्नान होंगे. जैसा की कोरोना के बीच महाकुंभ का आयोजन हो रहा है तो ऐसे में सरकार विशेष तौर पर सभी चीजों का ध्यान रख रही है.

कोरोना के मद्देनजर एसओपी भी जारी कर दी गई है जिसका पालन हर हाल में यहां आने वाले लोगों को करना ही होगा. बिना रजिस्ट्रेशन और कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के कुंभ में किसी की भी एंट्री नहीं होगी. साथ ही लोगों को कुंभ मेले में स्नान हेतु डुबकी लगाने के लिए मात्र 20 मिनट का समय मिलेगा. इसके अलावा मेले में भीड़ पर नियंत्रण के लिए भी खास इंतजाम किए गए है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending