प्रियंका गांधी ने साधा पीएम मोदी पर निशाना, चिट्ठी लिख लखीमपुर खीरी के पीड़ितों के लिए की न्याय की मांग

कृषि कानूनों की वापसी के खबर के बाद से ही सियासत जारी है। इसी बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार के इस फैसले की सराहना की, हालांकि इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा और चिट्ठी लिख लखीमपुर खीरी कांड के पीड़ितों के लिए न्याय की मांग की है। बता दें, प्रियंका गांधी ने एक बयान में बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज लखनऊ में मौजूद हैं और उन्होंने पत्र लिखकर उनसे लखीमपुर खीरी कांड के  पीड़ितों को इन्साफ दिलाने की मांग की है। इतना ही नहीं प्रियंका ने प्रधानमंत्री के साथ-साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी धावा बोला है।


प्रियंका का प्रधानमंत्री मोदी पर तंज

प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री और सीएम योगी लखीमपुर खीरी कांड से जुड़े आरोपी के पिता के साथ एक ही मंच साझा कर रहे हैं। आगे उन्होंने सरकार से सवाल किया है की आखिर लखीमपुर खीरी कांड के शिकार हुए लोगों को न्याय कब मिलेगा। बता दें कि शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी ने  कृषि कानून रद्द करने की घोषणा की जिसके बाद प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर तंज कस्ते हुए कहा कि जब चुनाव में हार दिखने लगी तो सरकार को देश की सच्चाई समझ आ ही गई,की इस देश को किसानों ने ही बनाया है और इस देश का सच्चा रखवाला किसान ही है और यह इनका ही देश है। प्रियंका ने ट्वीट द्वारा केंद्र सरकार पर कई आरोप लगाए। 

उन्होंने आगे लिखा कि लगभग 600 से भी ज्यादा किसानों की शहादत और 350 से भी ज्यादा दिन का संघर्ष, और उनके ही मंत्री के बेटों द्वारा किसानो का कुचला जाना, इन सब की मोदी जी को कोई परवाह नहीं थी। आगे उन्होंने कहा की केंद्र सरकार के कार्यकर्ताओं ने किसानो का अपमान किया, उन्हें बहुत से नाम दिए और प्रधानमंत्री ने खुद भी उन्हें  आंदोलनजीवी बोला था, और उन्हें गिरफ्तार किया गया, उनके ऊपर लाठियां बरसाईं गई।

राहुल गांधी ने लिखी किसानों को चिट्ठी

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार द्वारा कृषि कानूनों के वापस लेने के फैसले के बाद किसानों को एक चिट्ठी लिखी। और उसमे लिखा, ‘मेरे प्रिय अन्नदाताओं, आपके संघर्ष, तप और बलिदान के बदौलत मिली इस  ऐतिहासिक जीत के लिए  बहुत-बहुत बधाई। मैं इस संघर्ष में 700 से भी ज्यादा किसान भाई-बहनों की दी गई शहादत के लिए नतमस्तक हूं।’ आगे उन्होंने लिखा कि शनिवार को कृषि कानूनों की वापसी के घोषणा के बाद कांग्रेस द्वारा विजय दिवस मनाया जा रहा है। कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता सभाएं पूरे देश में और रैली कर रहे हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending