प्रयागराज: कोरोना पॉजिटिव अम्मी की मौत से नाराज इंस्पेक्टर ने फोड़ा डॉक्टर का सिर, मुकदमा दर्ज

प्रयागराज के एक कोविड हॉस्पिटल में कोरोना मरीज को भर्ती कराने के लिए बेड नहीं मिला तो परिजनों ने डॉक्टर पर ही लात घुसे बरसाने शुरू कर दिए। पूरी घटना शुक्रवार सुबह 3 बजे कोविड-19 लेवल थ्री स्वरूपरानी अस्पताल (SRN Hospital) की है जहां तड़के सुबह 3 बजे कोरोना संक्रमित मरीज के परिजनों और डॉक्टर के बीच झड़प हुई। जिसके बाद विरोधस्वरूप सभी डॉक्टर्स हड़ताल पर चले गए।
बता दें कोरोना पोजिटिव बुजुर्ग महिला की मौत हो चुकी है जिसके बाद गुस्साए बेटे इंस्पेक्टर जुल्फिकार ने डॉक्टर का सिर फोड़ दिया। जुल्फिकार प्रतापगढ़ में बतौर इंस्पेक्टर तैनात है। इंस्पेक्टर के साथ उसके दो अन्य भाई भी डॉक्टर की पिटाई में शामिल थे।
 घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुँचे और उन्होंने आक्रोशित डॉक्टरों को शांत कराया। इंस्पेक्टर जुल्फिकार को तत्काल सस्पेंड कर के उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया है। लेकिन इसके बाद भी डॉक्टर नहीं माने और हड़ताल शुरू की है। सुबह से ही अस्पताल में मरीजों की हालत खराब है और व्यवस्था अस्त-व्यस्त हो गई है। इसके बाद भी डॉक्टर और मेडिकल कर्मियों ने हड़ताल कर दिया, जिससे अस्पताल में हाहाकार मच गया है।
डॉक्टरों का कहना है कि कोविड-19 संक्रमण के दौर में वे लोग अपनी जान की परवाह न करते हुए काम कर रहे हैं, लेकिन तीमारदारों द्वारा जिस तरह मारपीट की जा रही है, इससे उनमें भय का माहौल पैदा हो रहा है। डॉक्टरों ने बताया कि घटना के समय 4 पुलिसकर्मी मौके पर थे फिर भी डॉक्टर को नहीं बचाया गया।

जानिए क्या हैं पूरा मामला
इंस्पेक्टर जुल्फिकार की अम्मी अप्रैल 18 से ही अस्पताल में भर्ती थीं और कोरोना पॉजिटिव आने के कारण उन्हें कोविड वॉर्ड में भर्ती कर दिया गया। जबकि इंस्पेक्टर अपनी अम्मी के लिए बेहतर वॉर्ड में बेड चाहता था। इसी बात को लेकर डॉक्टर के साथ बहस हुई और जुल्फिकार समेत तीनों भाइयों ने मिल कर डॉक्टर को ग्लूकोज चढ़ाने वाले स्टैंड से इतना मारा कि उनका सिर फट गया। IG केपी सिंह स्थिति को नियंत्रित करने में लगे हुए हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश में फ़िलहाल कोरोना के 2,59,810 मामले हैं, जिनमें से 16,988 (6.53%) प्रयागराज में ही हैं। लखनऊ में 54,967 (21.15%) सक्रिय मामलों के बाद राज्य में प्रयागराज का ही स्थान है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending