पीएम मोदी का बांग्लादेश दौरा संयोग या प्रयोग

बांग्लादेश अपनी आजादी के 50 वर्ष पूरे होने का जश्न मना रहा है जहां इसी जश्न में शामिल होने प्रधानमंत्री नरेंद्र कल दो दिवसीय बांग्लादेश दौरे पर पहुंचे जहां आज उनके दौरे का दूसरा दिन है. पीएम मोदी के बांग्लादेश पहुंचने को बंगाल चुनाव से भी जोड़कर देखा जा रहा है क्योकि पीएम मोदी इस दौरान बांग्लादेश में मतुआ समुदाय के लोगों से भी मिलें. पीएम मोदी ने आज  ओरकांडी मंदिर में पूजा-अर्चना की और मतुआ समुदाय के लोगों को संबोधित भी किया. पश्चिम बंगाल में आज पहले चरण का चुनाव संपन्न हुआ और आगे 7 चरणों में बंगाल में चुनाव होने है. अब सवाल ये ही कि आखिर पश्चिम बंगाल चुनाव का बांग्लादेश से क्या कनेक्शन है ?  दरअसल, मतुआ समुदाय के लोग पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश दोनो जगह रहते है.

बात अगर पश्चिम बंगाल की करे तो बंगाल में मतुआ समुदाय की आबादी लगभग 2 करोड़ के आस – पास है और ये समुदाय पश्चिम बंगाल में 70 सीटों पर अपना प्रभाव रखता है. यही कारण है कि चाहे वो लैफ्ट हो या फिर टीएमसी या फिर भाजपा, सभी राजनीतिक पार्टियां मतुआ समुदाय का ख्याल रखती है. पीएम मोदी वैसे गए तो बाग्लादेश है पर इसकी चर्चा पश्चिम बंगाल सहित पूरे देश में हो रही है. पश्चिम बंगाल के चुनाव पर इस समय पूरे देश की नजरे टिकी हुई है. अब पीएम मोदी के इस दौरे को संयोग कहे या फिर सुनियोजित इसका जवाब थोड़ा कठिन है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending