नासा ने बताया एक उल्कापिंड कर सकता है धरती का विनाश ! उल्कापिंड को रोकने के लिए रिसर्च है जारी

पूरे ब्रह्मांड में अभी केवल धरती पर ही जीवन है। ब्रह्मांड में और ऐसे कई ग्रह हो सकते हैं जिस पर जीवन संभव हो लेकिन इस बारे में विज्ञान अभी तक पता नहीं लगा पाया है। अपने लोगों को कहते सुना होगा की धरती पर प्रलय आएगा। यह कब आएगा और दुनिया कब नष्ट हो जाएगी इसको लेकर अक्सर लोग चर्चा करते ही रहते हैं।

इस पर कई सारी फिल्म भी आ चुकी है जिसमें बताया गया है की धरती पर प्रलय कैसे आएगा। धरती पर कयामत आने की बात को लेकर अक्सर रिसर्च होता ही रहता है। इसी बीच नासा ने भी धरती पर कयामत आने को लेकर एक रिसर्च किया है जिसमें बताया गया है कि एक विशालकाय उल्का पिंड धरती से टकरा सकता है।

इस संबंध में नासा द्वारा किए गए रिसर्च के मुताबिक साल 2182 में धरती से एक उल्का पिंड टकरा सकता है जो की एक मील लंबा है। इसके 250 ग्राम के टुकड़े को लेकर फिलहाल रिसर्च किया जा रहा है। आपको बता दें की धरती पर कभी डायनासोर हुआ करते थे और वैज्ञानिक दावा करते हैं कि डायनासोर का विनाश एक उल्का पिंड के धरती से टकराने पर ही हुआ था।

नासा के वैज्ञानिकों का दावा है कि 24 सितंबर 2182 को बेनू उल्का पिंड धरती से टकरा जा सकता है और इसका रास्ता बदलने के लिए अभी से कोशिश से की जा रही है। इस उल्का पिंड की चौड़ाई एक मील की है और यह धरती से टकरा सकता है। बता दें कि वैज्ञानिकों का मानना है कि डायनासोर को बर्बाद करने वाले इलाका पिंड की चौड़ाई 6 मिल की थी।

एक मिल चौड़े उल्का पिंड की ताकत को लेकर वैज्ञानिक कहते हैं कि उसे उल्का पिंड 22 एटम बमों से भी ज्यादा ताकत होगी। आपको बता दे कि इस उल्का पिंड को टालने के लिए पिछले 7 वर्ष से नासा रिसर्च कर रहा है जिसके 250 ग्राम के टुकड़े को लेकर इस दिशा में रिसर्च किया जा रहा है।

More articles

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें

Trending