‘द शौशैंक रिडेम्प्शन’ को पछाड़ विवादों से घिरी ‘जय भीम’ बनी आईएमडीबी की नंबर एक फिल्म

विवादों और आलोचनाओं को पीछे छोड़ते हुए टीजे ग्नानवेल की तमिल फिल्म ‘जय भीम’ हर जगह कमाल दिखा रही है। न तो दर्शक इसे देखने से पीछे हट रहे हैं और न ही वाहवाही  करने से। बता दें कि साउथ के सुपरस्टार सूर्या ने की यह फिल्म जब से रिलीज हुई है तब से लगातार सुर्खियों में है। और अब तो फिल्म ने एक और रिकॉर्ड तोड़ दिया है जिसके लिए इसकी टीम को हर किसी से बधाइयां मिल रही हैं।

बता दें जय भीम अब ‘द शौशैंक रिडेम्प्शन’ को पछाड़कर 9.6 रेटिंग के साथ आईएमडीबी (IMDb) की सबसे ज्यादा रेटिंग वाली फिल्म बन गई है।  अमेजन प्राइम पर दो नवंबर को रिलीज हुई इस फिल्म ने कुछ ही दिनों में आईएमडीबी के रेटिंग में इतनी बड़ी तर्रकी हासिल कर ली है। बता दें फिल्म को लेकर विरोध और विवाद जारी हैं, लेकिन इसके बाद भी फिल्म का लिस्ट में पहले स्थान पर आना काफी बड़ी बात है।


बता दें कि फिल्म के निर्देशक टीजे ग्नानवेल हैं और इसके लेखक भी वही हैं। यह फिल्म मद्रास हाईकोर्ट के जज रहे जस्टिस चंद्रा के एक बेहद जाने माने केस पर आधारित है और इसमें तमिलनाडु की एक जनजाति के साथ हुए उत्पीड़न को दिखाया गया है। सुपरस्टार सूर्या के अलावा इस फिल्म में लिजोमोल जोस, राजिशा विजयन,  के मणिकंदन, प्रकाश राज और राव रमेश जैसे स्टार्स ने भी बेहद दमदार अभिनय किया है।

बता दें कि तमिलनाडु के वन्नियार समुदाय के कुछ लोगों ने  फिल्म की रिलीज के बाद  इसके कुछ सीन्स को लेकर आपत्ति जताई थी। और तभी से वह अभिनेता सूर्या को बार-बार निशाना बना रहे थे।  उसके बाद  निर्देशक टीजे ग्नानवेल ने तमिल भाषा में एक लिखित माफीनामा जारी किया था और कहा कि फिल्म के जरिये वह किसी व्यक्ति या समुदाय का अपमान नहीं करना चाहते थे। और जिस किसी को भी इस बात से ठेस पहुंची उनके प्रति उन्होंने दिल से खेद व्यक्त किया।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending