दो तरह के होते है तुलसी पत्ता कौन से तुलसी का काढ़ा पीने से मिलता है सारी बीमारियों से छुटकारा और होता है इम्यून सिस्टम मजबूत

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर बेहद खतरनाक है। वैज्ञानिकों ने सिद्ध किया कि वायरस सीधा मरीज के फेफड़ों पर असर कर रहा है, जिससे लोगों का इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हो रहा है। ऐसे में जरूरी है कि आपका इम्यूयनिटी सिस्टम मजबूत रहे। 

पर कैसे करे अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत 

आपको बता दें कि तुलसी काढ़े के बारे में, जिसे आप आसानी से घर पर ही बना सकते हैं। इस काढ़े की खास बात यह है कि इससे आपकी इम्यूनिटी तो मजबूत होगी ही सर्दी-जुकाम और गले में खराश भी दूर होगी। साथ ही तुलसी काढ़ा शुगर लेवल को भी कंट्रोल में करेगा। 

लेकिन क्या आपको पता है कि तुलसी के भी दो पत्ते होते है और किस पत्ते का काढ़ा बनाना चाहिए जो शरीर में असर करे और हमारे इम्यून सिस्टम को भी मजबूत रखें आइए जानते है कौन सा पत्ता का बनाए काढ़ा।  दो तरह का तुलसी पत्ता होता है उसमे  एक हरे रंग की जिसे रामा तुलसी कहते हैं और दूसरी थोड़ा काले रंग की जिसे श्यामा तुलसी कहते हैं । 

रामा तुलसी का इस्तेमाल हम मसालेदार और कड़वी, गर्म, सौम्य, पाचन, पसीना और बच्चों की सर्दी-खांसी की बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। जबकि श्यामा तुलसी मसालेदार और कड़वी, मुलायम, चिकनी, पचने में हल्की, शोषक और वात-पित्त में लाभदायक होती है।

हालांकि दोनों तुलसी सेहत के लिए बहुत लाभदायक है। लेकिन काले रंग वाला यानी श्यामा तुलसी सेहत के लिए ज्यादा असरदार और लाभदायक माना गया है ।

यदि आपको काढ़ा बनाना मुश्किल काम लगता है तो इसका 4-5 पत्ते खा भी सकते है वो भी शरीर के लिए असरदार माना गया है। 

रोजाना सुबह खाली पेट एक कप तुलसी का काढ़ा पीना फायदेमंद होता है। इसके अलावा आप तुलसी की चाय का सेवन भी कर सकते हैं। यह ना सिर्फ आपकी इम्युनिटी को मजबूत करने में मदद करता है, बल्कि शरीर को ऊर्जावान भी रखता है। इतना ही नहीं यह आपको पूरे दिन फ्रेश भी रखता है। तुलसी का काढ़ा पीने से किसी भी प्रकार के इंफेक्शन होने का खतरा कम हो जाता है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending