तेजपत्ते के इस्तेमाल से किडनी में पथरी की समस्या हो जाती है दूर और भी बहुत सारी बीमारीयों में फायदेमंद है तेजपत्ता आइए देखे कैसे

तेजपत्ता हमारे खाने का स्वाद और खुशबू तो बढ़ाने का काम करता ही है साथ ही तेजपत्ते हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होता है आज हम आपको तेजपत्ते के इस्तमाल का कई फायदे के बारे में बतायेंगे जो की आपको भी नहीं पता होगा

तेजपत्ता हर भारतीयों के रसोई में आपको आसानी से मिल जाएगा। यह ऐसा मसाला है, जिसका इस्तेमाल व्यंजनों में जायका और खुशबू बढ़ाने के लिए किया जाता है।  तेजपत्ता का इस्तमाल आयुर्वेद में औषधि के रुप में भी किया जाता है क्योंकि तेजपत्ता में   कॉपर, पोटाशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम और आयरन जैसे औषधि पाये जाते है।
तेज पत्ता के फायदे
 किडनी में पथरी की समस्याओं से बचाव किडनी और पेशाब की नली में मौजूद पथरी के इलाज में तेजपत्ते के अर्क का इस्तेमाल पारंपरिक रूप से किया जाता है। यह किडनी की मांसपेशियों को सीधे आराम देने में कारगर होता है। इसमें लॉरिक एसिड पाया जाता है, जो किडनी की समस्याओं से राहत दिला सकता है। एनसीबीआई की ओर से प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च के दौरान सांकल हर्बल ड्रॉप का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें तेजपत्ता सहित विभिन्न प्रकार की जड़ी-बूटियां शामिल थीं। इस ड्रॉप की मदद से किडनी के स्वास्थ्य में सुधार नजर आया।
.पाचन से जूड़ी समस्या में तेजपत्ता के फायदे
यदि आपको पाचन से जुड़ी समस्याएं हैं तो आप चाय में तेजपत्ते का इस्तेमाल करके कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी समस्याओं से राहत पा सकते हैं. तेजपत्ते पेट से जुड़ी कई समस्याओं में कारगर माना गया है।
.डायबिटीज के लिए तेजपत्ता के फायदे
टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes) के मरीज को तेजपत्ते का सेवन करना चाहिए जिससे उनका ग्लूकोज का लेवल कम रहेगा और साथ ही इंसुलिन का फंक्शन भी बेहतर होगा।

.दिल का भी ख्याल रखता है तेजपत्ता हार्ट को स्वस्थ रखता है और हमारे शरीर में जो बैड कोलेस्ट्ऱॉल यानी एलडीएल
को कम करने में भी मदद करता है

.हकलाने की समस्या सुधारने में फायदेमंद तेजपत्ता
अगर किसी को रुक-रुक कर या हकला कर बात करने की समस्या है तेजपत्ता के पत्तों को
नियमित रूप से चूसते रहने से हकलाहट में लाभ होता है ये घरेलू उपचार फायदेमंद साबित
हो सकता है। 

. तेजपत्ता खाने से भूख न लगने की समस्या भी दूर होती है
किसी बीमारी या तनाव के कारण खाना खाने की इच्छा खत्म हो जाती है ऐसे में अगर
आप तेजपत्ता का रायता सुबह-शाम पीयेंगे तो भूख ना लगने की समस्या दूर हो जाती है।
.तेजपत्ता लीवर के सूजन में भी फायदेमंद
अगर लीवर में किसी बीमारी के कारण सूजन हो गया है तो तेजपत्ता, लहसुन,
काली मरिच, लौंग तथा हल्दी के चूर्ण का काढ़ा बनाकर 10-20 मिली मात्रा में
पीने से लीवर संबंधी रोगों में लाभ होता है। इस तरह से तेजपत्ता का सेवन
करने पर जल्दी आराम मिलता है

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending