तमिलनाडु में बारिश के कारण जारी किया गया रेड अलर्ट, तैनात की गई एनडीआरएफ की टीमें

तमिलनाडु में बारिश लगातार अपना कहर ढा रहा है। बता दें कि चेन्नई के राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री केकेएसएसआर रामचंद्रन ने कहा कि भारी बारिश के वजह से दो दिनों में आठ लोगों की जान जा चुकी है, जिनमें तीन लोगों की मौत कल हुई थी। बता दें कि चिंगलपेट और कांचीपुरम में एनडीआरएफ की दो टीमों को तैनात किया गया है। केकेएसएसआर रामचंद्रन ने द्वारा बताया गया है कि चेन्नई में 220 जगहों पर जलजमाव की खबर मिली है, जिसमें से 34 जगहों पर पानी को साफ कर दिया गया है। और127 स्थानों से बाढ़ के पानी को बाहर निकाला जा रहा है। 
तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के इलाकों में है खतरा 

बता दें कि तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में शनिवार को एक चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव के कारण भी तेज बारिश होने की संभावना जताई गई है। चेन्नई में मौजूद भारत मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा बताया है कि शनिवार से सोमवार के बीच में एक कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है, जिसके वजह से दोनों राज्यों के तटीय जिलों में रेड अलर्ट और साथ ही साथ आस-पास के जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया गया है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, तमिलनाडु के राजधानी चेन्नई, कुड्डालोर,  थूथुकुडी,विल्लुपुरम, चेंगलपट्टू, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम, थेनी, मदुरै और पुदुक्कोट्टई में 27 से 29 नवंबर तक भारी बारिश होगी। केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी ने भारी बारिश की चेतावनी देखते हुए  सभी स्कूल व कॉलेजों में दो दिनों की छुट्टी की घोषणा की है। मौसम विभाग के मुताबिक कि एक चक्रवाती परिसंचरण क्षेत्र श्रीलंका के तटों पर भी बना हुआ है जिसके कारण तमिलनाडु तट व दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश में बहुत तेज उत्तर-पूर्वी हवा चल रही हैं।


रविवार और सोमवार को आंध्र प्रदेश में  हो सकती है भारी बारिश 


मौसम विभाग ने आंध्र प्रदेश से जुड़ी जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार को  राज्य के तटीय इलाकों यानी यनम और रायलसीमा में अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। बारिश की तीव्रता रविवार और सोमवार को बढ़ने की आशंका है। इन दिनों में मछुआरों को इन क्षेत्रों में से दूर रहने की सलाह दी गई है। 

तमिलनाडु: 1 अक्तूबर से 25 नवंबर तक  हुई 61 फीसदी ज्यादा बारिश

रिपोर्ट के अनुसार तमिलनाडु में 1 अक्तूबर से 25 नवंबर तक लगभग 61 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है। और अत्यधिक बारिश के वजह से राज्य के कई जिलों में जलजमाव की स्थिति बन गई है।  साथ ही साथ कई घरों और दफ्तरों में भी पानी भर आए हैं जिसके कारण लोगों का बाहर निकलना बहुत मुश्किल हो गया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending