डायबिटीज में हल्दी कैसे है लाभकारी, सही जानकारी से दूर होगी डायबिटीज की बीमारी

आज के समय में खाना-पीना और दिनचर्या में परिवर्तन के कारण डायबिटीज होना बहुत ही आम बात है। कुछ दशक
पहले यह सिर्फ अधिक उम्र के लोग ही इसके चपेट में आते थे परंतु आज के समय में बच्चे भी डायबिटीज की चपेट में
आ रहे है।

एक समय था जब 40-50 साल की उम्र के बाद ही डायबिटीज जैसी बीमारियाँ हुआ करती थी परंतु अब
अनुचित जीवनशैली और लाइफस्टाइल के कारण छोटे बच्चे भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। अनुमान के अनुसार हर
चौथा व्यक्ति डायबिटीज से परेशान है। आईएमसी ने अपने सर्वे में बताया है कि, हर साल करीब 10 लाख लोगों की
मौत डायबिटीज के कारण हो जाती है। हर साल अंतरराष्ट्रीय मधुमेह दिवस मनाया जाता है ताकि लोगों में इसके प्रति
जागरुकता बढ़े।

डायबिटीज का इलाज अगर सही समय पर नहीं हो तो किडनी, फेफड़ों के साथ-साथ आंखों भी खराब हो सकती
है। अगर हम भारत की बात करें तो यहाँ हर साल डायबिटीज के कारण 14 लाख लोगों की आंखे कमजोर हो जाती हैं।
2 से 10 प्रतिशत लोगों में इसके कारण अन्धापन और 80 प्रतिशत लोगों को आंखों संबंधी समस्या हो जाती है। इसका
सबसे ज्यादा असर किडनी पर होता है, लगभग 50 प्रतिशत लोगों को किडनी में इफेक्ट से प्रभावित होते हैं। ब्लड
शुगर को कंट्रोल करने के लिए हम कई तरह के दबाई का उपयोग करते हैं परंतु अगर आप चाहें तो इसके साथ
आयुर्वेदिक उपचार के रूप में हल्दी का यह सिंपल सा नुस्खा अपना सकते हैं। इससे आपका ब्लड शुगर तेजी से कंट्रोल
होगा और इसका कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं है। 

images 2021 03 05T182724.751

हल्दी डायबिटीज में कैसे है लाभकार
आयुर्वेद के अनुसार हल्दी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है जिसे हमलोग खाने में प्रतिदिन उपयोग करते हैं।
हल्दी को इम्यूनिटी बूस्टर के रूप जाना जाता है क्योंकि यह कई बीमारियों से निजात दिलाने में भी मदद करती है।
हल्दी में प्रचूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरिया और एंटीफंगल तत्व होते हैं। इसके अलावा इसमें प्रोटीन,
फाइबर, विटामिन सी, विटामिन के, पोटैशियम, कैल्सियम, जिंक, कॉपर, आयरन और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व
भी पाए जाते हैं। जो कि आपको ब्लड शुगर सहिक कई खतरनाक बीमारियों से बचाते हैं। 

डायबिटीज में हल्दी के सेवन का तरीका

  • 2 से 5 ग्राम हल्दी पाउडर के साथ थोड़ा-सा आंवला का जूस और शहद मिलाकर सुबह – शाम सेवन करें। 

हल्दी, दारुहल्दी, तगर और वायविडंग का क्वाथ बनाकर रख लें और उसकी 20-40 एमएल की मात्रा में 5-10 ग्राम
शहद मिलाकर सुबह- शाम सेवन करें। इससे भी आपको बहुत लाभ मिलेगा। 

हल्दी के अन्य स्वास्थ्य लाभ
• यदि आपको अधिक खांसी आ रही हैं तो हल्दी के 1-2 ग्राम पाउडर को भून लें और इसे शहद या घी के साथ सेवन
करें। 

• यदि आप्को ल्यूकोरिया की समस्या है तो हल्दी और गुग्गुल के पाउडर को बराबर मात्रा में मिलाकर सुबह-शाम
सेवन करें। 

• यदि आपके पेट में अधिक दर्द हो रहा है, तो 10 ग्राम हल्दी को 100 ग्राम पानी में उबालें फिर इसे छानकर थोड़ा सा
गुड़ मिलाएँ और धीमे-धीमे इसे पिएं। 

• दाद-खुजली की समस्या से परेशान हैं तो नीम की पत्तियों में हल्दी मिलाकर लेप बनाएं और इसे प्रभावित जगह पर
अच्छी तरह से लगाएं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending