कोरोना वैक्सीन पर बड़ी लापरवाही, पहली डोज कोवैक्सीन की तो दूसरी कोविशील्ड की लगाई

उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले में कोरोना वैक्सीन पर स्वास्थ्य कर्मियों की एक बहुत बड़ी लापरवाही सामने आई है. जहां पर एक बुजुर्ग को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज कोवैक्सीन की लगी और दूसरी कोविशील्ड की लगाई गई. जब बुजुर्ग व्यक्ति को इसकी जानकारी हुई तो अस्पताल में हंगामा शुरू हो गया. घटना के बाद से कोरोना वैक्सीन कि डोज लगाने आए लोगो की आंखों में खौफ मंडरा रहा है.

पीड़ित बुजुर्ग व्यक्ति ने बताया कि उन्हें पहली डोज 25 फरवरी 2021 मे लगी थी और दूसरी डोज 25 मार्च 2021 में लगनी थी लेकिन किसी कारणवश वह डोज लेने नही आ सके इसलिए जब वह मंगलवार 13 अप्रैल 2021 को दूसरी डोज लेने जिला मुख्यालय के महिला अस्पताल पहुंचे तो उन्हें कोवैक्सीन की जगह कोविशील्ड लगा दी गई जिस पर अब उन्होंने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

जैसे ही पीड़ित बुजुर्ग व्यक्ति को स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा गलत डोज दिए जाने की खबर मिली पीड़ित सदमे में आ गए उनके पैरों तले जमीन खिसक गई आर फिर पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया

पूरे मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर डिप्टी सीएमओ आईए अंसारी पहुंचे और उन्होंने मामले का संज्ञान लिया और मामले की जांच की. इसके अलावा उन्होंने पीड़ित बुजुर्ग व्यक्ति को समझाया और उनका डर दूर किया. डिप्टी सीएमओ ने पीड़ित से कहा कि उन्हें कुछ नहीं होगा. 
हालांकि पीड़ित फिलहाल स्वस्थ हैं उन्हें बुखार आया था लेकिन दवाई लेने के बाद वो ठीक हैं और दफ्तर आकर काम कर रहे हैं.  

डॉक्टर एके श्रीवास्तव ने बताया कि वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं है. लेकिन ऐसा होना नहीं चाहिए था. सभी स्वास्थ्य कर्मियों को समझा दिया गया है कि आगे से इस बात का ख्याल रखे कि कोरोना का टीका दोनों डोज एक ही ब्रांड के लगे. इसके अलावा डॉक्टर ने बताया कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है. अब तक इस तरह का पहला मामला सामने आया है. 

स्वास्थ्य विभाग की इस लापरवाही से हर किसी को डरा कर रख दिया है. लोगों का मानना है कि यह एक बेहद ही संवेनशील मामला है. इस पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. जिससे आगे ऐसी गलती न हो. फिलहाल पीड़ित पूरी तरह स्वस्थ हैं उन्हें किसी तरह की कोई दिक्तत नहीं हो रही है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending