अखिलेश यादव ने शुरू की यूपी विधान सभा के चुनाव की तैयारी, गठबंधन को लेकर भी किया ऐलान,

यूपी विधान सभा चुनाव इस बार दिलचस्प होने वाला है। सपा के द्वारा अभी से 2022 की तैयारी शुरू कर दी गई है है।
सपा प्रमुख अखिलेश यादव हर जिले में जाकर पार्टी के लोगों से विस्तार से बात कर रहे हैं और सपा सरकार के कामों
का हवाला दे रहे हैं। अखिलेश यादव का कहना है कि अब बड़े दलों से गठबंधन नहीं होगा। इस बार का चुनाव छोटे दलों के साथ मिल कर लड़ेंगे। मुरादाबाद में भी उन्होंने इस बात को दोहराया। 

पूर्व मुख्यमंत्री इस बार कोशिश कर रहें हैं कि जहां सुधार की गुंजाइश होगी वहां करेंगे। कार्यकर्ताओं से बातचीत में
उन्होंने बताया है कि बड़े दलों (कांग्रेस बसपा ) के साथ गठबंधन का अनुभव अच्छा नहीं रहा। इस वजह से इन दलों से
दूरी बना कर रखेंगे। छोटे और स्थानीय दलों को आगामी चुनाव में तरजीह देंगे।

सूबे में भाजपा से नाता रखने वाले दलों से भी उन्होंने दूरी बनाकर रहने को कहा। जब उनसे यह पूछा गया कि क्या
अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव की पार्टी प्रसपा से भी गठबंधन करेंगे तो उन्होंने कहा कि वह भी छोटा दल है। सपा
अध्यक्ष यादव ने मुरादाबाद के संभल और मुरादाबाद के सांसद सहित कुछ और जनप्रतिनिधियों के घर पहुंच कर
बात की।

कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया कि किस तरह तैयारी सुरु की जाए। प्रेस कांफ्रेंस के बाहर भारी संख्या में लोग इंतजार में
खड़े रहे। होटल हॉली डे में लंबे समय तक नेताओं एवं कार्यकर्तओं का जमावड़ा रहा। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने एकजुटता का दिया संदेश
सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने मुरादाबाद के आयोजन का एक उदाहरण दिया। जिसमें उन्होंने बताया कि मैं अभी
सांसद डा. एसटी हसन के आवास से आ रहा था रास्ते में एक मेला दिखा जहाँ हिन्दू मुस्लिम एक साथ इन्जावय कर
रहे थे। उन्होंने कहा कि सपा हमेशा इस पक्ष में रही है कि धर्म निरपेक्षता हमेशा कायम रहे। सभी लोग आपस में मिल
जुल कर रहें लेकिन भाजपा भेदभाव पूर्ण काम करती है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending